उज़ड़ जाते है सर से पाव तक , "वो लोग"
जो किसी " बेपरवाह " से "बे-पनाह "
मोहब्बत करते है...