DHANI ASHA, A LOVELY VILLAGE OF TARANAGAR

कैसे कांग्रेस जीत जाती है हर बार, और
जीत सकती है इस बार भी - 2014 में
भी !!
===============
===============
===============
प्रार्थना है की पूरा पढ़ें, दुबारा पढ़ें,
बार-बार पढ़ें, समझें और फैला दें इसे पूरे
भारत मैं - जय श्री राम !
क्या कारण है की कांग्रेस पिछले 65
वर्षों से लगातार जीत रही है और आगे
भी जीत सकती है !
वर्तमान मैं, राज्यवार औसत के हिसाब से,
देश के जनसांख्यिकी आंकड़े कुछ इस तरह हैं :
15 % मुसलमान, 8 % इसाई, 7 % अन्य
और 70 % हिन्दू ! यानी : -
100 में से 70 हुए हिन्दू, 8 इसाई , 15
मुसलमान और 7 अन्य !
अब देखते हैं की वोटर registration के
आंकड़े क्या कहते हैं, यानी प्रत्येक 100
की संख्या पर किस समुदाय के कितने %
लोग वोट देने के लिए registered हैं -
मुसलमान - 90 %, इसाई - 90 %, अन्य -
90 % , और हिन्दू - 60 %....., यानी सबसे
कम वोटिंग पॉवर !
इसका मतलब, प्रत्येक 100 वोटर id
कार्ड रखने वाले वोटर्स मैं से -
मुस्लमान-14, इसाई-7, अन्य-6 और हिन्दू -
42
आइये अब एक रोचक तथ्य पर नज़र डालते हैं -
..... कि इन वोटर्स मैं से किस ग्रुप के कितने
% लोग वोट डालने और अपना नेता खुद
चुनने जाते हैं , यानी हर ग्रुप में वोट देने
वालों का % -
मुसलमान - 90 %, इसाई - 90 %, अन्य -
90 %, और हिन्दू - 50 %
यानी - ultimately वोट डालेंगे-
मुस्लमान-13, इसाई-6,अन्य-5 और हिन्दू -
21
और यही 45 लोग चुनावों में वोट डाल कर
देश और
हमारी प्यारी माँ भारती का भविष्य तय
करने के जिम्मेदार होंगे !
आइये अब देखते हैं की इन 45 में से कोन
किसको वोट देता है-
मुसलमान - 13 में से 10 कांग्रेस को, इसाई-
6 में से 5 कांग्रेस को,अन्य-5 में से 3 कांग्रेस
को जिसका मतलब कांग्रेस को मिलेंगे 18
नॉन-हिन्दू वोट ,बीजेपी को मिल सकते हैं
1 मुसलमान या इसाई वोट और 1 अन्य
वोट ! यानि बीजेपी को मिले केवल 2
नॉन-हिन्दू वोट , कांग्रेस के 18 के मुकाबले
थर्ड फ्रंट को मिल सकते हैं 2 मुस्लिम
या इसाई और 1 अन्य वोट , यानी कुल 3
नॉन-हिन्दू वोट !
और अब सबसे जरूरी , आते हैं हिन्दू वोट्स पर
- कुल 21 में से यदि कांग्रेस को मिल जाते हैं
5 वोट, बीजेपी को 12 और थर्ड फ्रंट
को 9 वोट !
तो इस तरह के वोटिंग पेटर्न से चुनावों के
नतीजे कुछ इस प्रकार होंगे -
कांग्रेस-23 वोट, बीजेपी-12 वोट, थर्ड
फ्रंट- 9 वोट !
ये है वो नतीजे जो कि 1990 से कमोबेश
लगातार जारी है और जिसके कारण कांग्रेस
रत्ती भर भी बहुसंख्यक हिन्दुओं की परवाह
नहीं करती, जूते कि नोक पर रखती है
हिन्दुओं को और उसका हर फैसला होता है
उन 18 वोटों के नाजायज़ हित साधने के
लिए !
कांग्रेस हारती है तो केवल उन राज्यों में
जिनमे मुसलमान उसे वोट नहीं करते जैसे
कि उत्तर प्रदेश ! अब यदि कांग्रेस इन
मुसलमानों को बुर्का सेकुलरिज्म के नाम पर
डराने में सफल हो जाती है तो समझिये
उसका 90 % काम तो हो गया !
और यह वो काम है जिसे करने मैं कांग्रेस
को महारत हासिल है !
इस बार भी इस बात की बहुत अधिक
संभावना है कि यही 2014 में भी होगा ,
कुछ % इधर या उधर !
ध्यान देने योग्य बात यह है
की मुसलमानों कि जनसँख्या जो की सुरसा के
मुख सामान बढती जा रही है, वो कांग्रेस
के जरिये अपने इस्लामीकरण के नापाक
इरादों में तेज़ी से सफल हो रही है !!
अब बात समाधान की, तो ऐसा कौन
सा मंत्र है जो कांग्रेस को इतिहास के
कूड़ेदान मैं डाल कर इस बढ़ते हुए इस्लामिक
दानव को परास्त कर सकता है ?
1) अपना और अपने जानकार
लोगों का वोटर id बनवाएं और हिन्दू वोट
प्रतिशत को अधिक से अधिक बढाएं
2)वोटिंग वाले दिन को पिकनिक
या फिल्म देखने का दिन न मानते हुये आने
वाले खतरे को महसूस करें,
मोदी जी का पक्ष मैं वोट डालें और
डलवाएं , हिन्दू वोटों का ध्रुवीकरण
मोदी जी जैसे राष्ट्रभक्त नेता के पक्ष मैं
करने का हर संभव प्रयास करें
3)अपना वोट केवल, केवल और केवल
मोदी जी और बीजेपी को ही दें ! याद
रखिये, बीजेपी ही वो रथ है जिस पर
सवार हो कर मोदी साहेब संसद तक पहुंचेंगे
वोटिंग वाले दिन एक बात जरूर याद रखें -
इस्लामिक आतंकवाद बेहद तेज़ी से दुनिया मैं
फ़ैल रहा है और बहुत जल्द ही ये भारत में एक
बड़े धमाके के साथ घुसेगा !
अगर आप वोट वाले दिन पिकनिक मनाने
का फैसला करते हैं , तो याद रहे,
हो सकता है की आपके बच्चे इन छोटी-
छोटी खुशियों को हासिल करने के लिए
जीवित ही न रह सकें क्योंकि इस्लाम
जहा भी फैलता है, मरघट जैसा दृश्य
उपस्थित कर देता है जैसे
की अफगानिस्तान,सीर
िया,लीबिया,इराक ,सोमालिया जैसे
देश !!
हमारी प्यारी भारत माता पुकार-पुकार
कर इस बार हमें मोदी जी के पक्ष में
वोटों के अँधा-धुंध ध्रुवीकरण के लिए कह
रही है ताकि उसे इस जेहादी दानव से
बचाया जा सके !!!!!!!!!!!!!!!
!!!!!!!!!!!!!!! !!!!!!!!!!!!!!! !!
इसे पोस्ट को जितना संभव हो सके, शेयर
करें , ये विनती है मेरी माँ भारती के हर
सपूत से !!!!!!!!!
मेरा क्या है, कोशिश कर रहा था, कर
रहा हूँ, और करता रहूँगा क्योंकि मुझे मेरे
अंतर्मन में मेरी मात्रभूमि, मेरे प्यारे
भारतवर्ष , मेरी ममतामयी भारत
माँ का आर्तनाद पल-पल सुनायी पड़ता है ,
और पड़ता रहेगा जब तक
की उसकी पीड़ा समाप्त नहीं हो जाती !!
जय श्री राम !