MANAV SEVA SANGH

निर्दोष जीवन, स्नेह की एकता, अपने अधिकार का त्याग एवं दूसरों के आधिकार की रक्षा (कर्तव्य-परायणता) ये मानवता के गुण आर्थात् लक्षण हैं और “मानवता में पूर्णता निहित है”.