Bjp india

about politics new india.....sone ka sher

हिन्दू को एक सूत्र ...में बांधने हेतु समाज के उन ठेकेदारों को अपनी सोच बदलनी होगी जो समाज खुद को धर्मनिरपेक्ष, प्रगतिशील बताने वाले और वोट की
राजनीति से ऊपर न सोचने वाले आज 'हिन्दू' शब्द को अप्रतिष्ठित कर रहे है| सेकुलर दोगले विदेशी जयचंद।
अहिंसा परमो धर्मः धर्म हिंसातथैव च:

अर्थात

अहिंसा परम धर्म है किंतु धर्म रक्षा हेतु हिंसा भी धर्म है। See More