HEART TOUCHING SMS

Dedicate to noble prize winner Shri Kailash satyarthi and Yusuf malala मत छीनो बच्चे का बचपन (बेबी सिटिंग में रहनेवाला बच्चा मां बाप से क्या कहता है ). रचियता : विपुल लखनवी, मुम्बई (09969680093) मम्मी पापा बँगला ले लो, खूब कमा लो चाँदी सोना l पर मेरा बचपन है छीना, दिन मेरा बीते खाली सूना ?? मम्मी कल जब मैं रोई थी, राजू हंसता आंटी सोई थी नहीं लगाया सीने से तब, पडे थे अपने आंसू पीना पर मेरा बचपन क्यूं छीना रोते रोते चुप हुई थी, शायद मुझको भूख लगी थी पर कुछ खाना न था भाता, भूखे पेट पडा था सोना पर मेरा बचपन क्यूं छीना मम्मी मुझको ज्वर आया था, जाने क्यूं मन घबराया था मैं तो जानूं तेरी गोदी, वोही मेरा स्वर्ग बिछौना पर मेरा बचपन क्यूं छीना मेरे नन्हे हाथ हैं मम्मी, सदा तुम्हारे साथ हैं मम्मी तेरी सूरत सबसे न्यारी, तेरे संग चाहूं मैं जीना पर मेरा बचपन क्यूं छीना नहीं चहिये मुझको कुछ भी न मागूं मैं खेल खिलौना मम्मी तेरी दौलत मैं भी,मैं भी तेरा सोना गहना मत छीनो बचपन ये सलोना